[:en]Be careful! Don’t do Android malware called ‘BlackRock’ in the phone, this virus can clear bank details[:hn]सावधान रहे! फोन में ‘ब्लैकरॉक’ नाम का एंड्रॉइड मालवेयर न करें, यह वायरस बैंक डिटेल्स को क्लियर कर सकता है[:]

[:en]Cyber ​​security agency Computer Emergency Response Team of India – CERT-IN has issued a warning against Android malware called ‘BlackRock’, which has the potential to steal banking and user’s confidential data. Malware can extract information and credit card information from over 300 applications, including email, e-commerce applications, social media applications, virtual currency, messaging, entertainment applications, and banking. The “attack campaign” of this ‘Trojan’ category virus is active globally.

New malware ‘BlackRock’ is attacking Android app. Banking malware has been developed using the source code of ‘Shares’. The app hides its icon from the drawer. It then exposes itself as a fake Google update. As soon as the user approves the update, it starts working independently without asking for any other approval.

With the help of this malware, the attacker will make the malware the default SMS medium by activating the keypad, scanning the victim’s contact list and messages, forcing the notification system to command and control server, restricting the user to the home screen. You can give many other types of commands, including hiding information, stealing information, sending spam, stealing SMS messages. Antivirus is capable of cheating.[:hn]साइबर सुरक्षा एजेंसी कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पॉन्स टीम ऑफ़ इंडिया – CERT-IN ने ‘BlackRock’ नामक एंड्रॉइड मैलवेयर के खिलाफ चेतावनी जारी की है, जिसमें बैंकिंग और उपयोगकर्ता के गोपनीय डेटा को चोरी करने की क्षमता है। मालवेयर ईमेल, ई-कॉमर्स एप्लिकेशन, सोशल मीडिया एप्लिकेशन, वर्चुअल करेंसी, मैसेजिंग, एंटरटेनमेंट एप्लिकेशन और बैंकिंग सहित 300 से अधिक एप्लिकेशन से जानकारी और क्रेडिट कार्ड की जानकारी निकाल सकता है। इस ‘ट्रोजन’ श्रेणी के वायरस का “हमला अभियान” विश्व स्तर पर सक्रिय है।

नया मैलवेयर ‘ब्लैकरॉक’ एंड्रॉइड ऐप पर हमला कर रहा है। बैंकिंग मालवेयर को ‘शेयर’ के स्रोत कोड का उपयोग करके विकसित किया गया है। ऐप ड्रॉअर से अपना आइकन छुपाता है। यह तब खुद को एक नकली Google अपडेट के रूप में उजागर करता है। जैसे ही उपयोगकर्ता अपडेट को मंजूरी देता है, यह किसी अन्य अनुमोदन के लिए पूछे बिना स्वतंत्र रूप से काम करना शुरू कर देता है।

इस मैलवेयर की मदद से, हमलावर कीपैड को सक्रिय करके, पीड़ित की संपर्क सूची और संदेशों को स्कैन करके, नोटिफिकेशन सिस्टम को कमांड और कंट्रोल सर्वर के लिए मजबूर करके, उपयोगकर्ता को होम स्क्रीन पर सीमित करके मैलवेयर को डिफ़ॉल्ट एसएमएस माध्यम बना देगा। आप कई अन्य प्रकार की कमांड दे सकते हैं, जिसमें जानकारी छिपाना, जानकारी चुराना, स्पैम भेजना, एसएमएस संदेश चोरी करना शामिल है। एंटीवायरस धोखा देने में सक्षम है।[:]